अब चीन को चीनी बेचेगा भारत

Read in English: India to export sugar to China soon

इससे पहले, चीनी निर्यात के लिए दोनों देशों के अधिकारियों के बीच कई दौर की बैठके हुई थीं। 

शुरू में भारत दो मीट्रिक टन चीनी का निर्यात करेगा। गैर बासमती चावल के बाद चीनी दूसरा उत्पाद है जिसे चीन भारत से खरीदेगा। चीन के साथ भारत के 60 बिलियन डॉलर के व्यापारिक घाटे को कम करने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है। साल 2017-18 के दौरान भारत ने चीन को महज 33 बिलियन डॉलर के मूल्य के उत्पादों का निर्यात किया था जबकि चीन से भारत का आयात 76.2 बिलियन डॉलर का है।

भारत दुनिया में चीनी का सबसे बड़ा उत्पादक है। भारत कच्ची, रिफाइंड और सफेद तीन श्रेणियों की चीनी का उत्पादन करता है। भारतीय चीनी उच्च गुणवत्ता वाली होती है और यह डैक्सट्रेनमुक्त होती है क्योंकि गन्ना काटने के बाद निम्नतम समय में मिल में गन्ने की पेराई होती है। वर्तमान में भारत चीनी उत्पादन की उस स्थिति में है जिससे वह चीन को बड़ी मात्रा में उच्च गुणवत्ता वाली चीनी का निर्यात कर सके।


Related Items

  1. ऐसे संभव है भारत में ‘चीनी’ सामानों का बहिष्कार

  1. दिवाली की खरीद पर चीनी सामान की बिक्री में 60 फीसदी की गिरावट

  1. चीनी सामान के बहिष्कार से बौखलाया चीन, भारत को दी यह धमकी !

loading...