टमाटर की बढ़ी कीमतों ने उड़ाई सरकार की नींद

दिल्ली और निकटवर्ती राजधानी क्षेत्र सहित देश के कुछ भागों में टमाटरों के बढ़ते हुए दामों ने सरकारों की नींद उड़ा दी है। केंद्र और राज्य सरकारें इस मसले पर लगातार बैठकें कर रही हैं। इन बैठकों में टमाटर की कीमतों पर नियत्रंण के लिए अब तक कई फैसले भी कर लिए गए हैं।

कृषि और किसान कल्याण मंत्रालय के अनुसार महाराष्ट्र और कर्नाटक में लगातार बारिश के कारण टमाटरों की आपूर्ति पर असर पड़ा है और मानसून के कम होने के कारण अगले 10 दिन में आपूर्ति सामान्य हो जाने की उम्मीद है।

दिल्ली में टमाटर की उपलब्धता पर नियंत्रण के लिए सफल दिल्ली में अपने सभी ब्रिकी केंद्रों पर 25 रुपये में 200 ग्राम टमाटर का गाढ़े गूदे की बिक्री करेगा। यह आठ सौ ग्राम टमाटर के बराबर होगा। इसके साथ ही, 85 रुपये में 825 ग्राम टमाटर का गूदा भी उपलब्ध रहेगा जो कि ढाई किलो टमाटर के बराबर होगा।

चार बड़े टमाटर उत्पादक राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, हिमाचल प्रदेश और आंध्र प्रदेश से दिल्ली सहित कम आपूर्ति वाले राज्यों में आपूर्ति बढ़ाने का अनुरोध भी किया गया है जिससे उपलब्धता बढ़े और मूल्य नियंत्रण में रहें।

Related Items

  1. सरकार के इन दस कदमों से देश में बिछेगा सड़क व यातायात व्यवस्था का जाल

  1. मोदी सरकार की 10 बातें जो सिद्ध करती है कि नामुमकिन अब मुमकिन है

  1. पुलिस की कार्यप्रणाली पर मोदी सरकार मांगेगी आम जनता की राय

loading...