मुगलों के शासन के दौरान समाज में आतंक तो व्याप्त था ही, साथ में, समाज रूढ़िवाद और छूआछूत जैसी कठिन समस्याओं में भी जकड़ा हुआ था। उस दौर में हिन्दुत्व की भावना को सुरक्षित रखने के लिए वैष्णव आन्दोलन का प्रचार-प्रसार चल रहा था और उसे पूरे देश में लोकप्रिय बनाने का श्रेय श्री चैतन्य को जाता है।

Read More

बुलंदशहर के बेलौन गांव में सर्व मंगला देवी को समर्पित बेलौन मंदिर में देवी का दर्शन करने प्रतिदिन हजारों लोग आते हैं। सर्व मंगला देवी को सुख की देवी माना जाता है।

Read More

राजस्थान में अलवर जिले की राजगढ़ तहसील स्थित बरवा की डूंगरी की तलहटी स्थित नारायणी माता भारत के प्रसिद्ध लोक तीर्थों में से एक है।

Read More

महामारी के दो साल बीत जाने के बाद, इस बार की जन्माष्टमी बेहद खास है। मथुरा के मंदिरों में इस बार जन्माष्टमी के त्योहार का भव्य आयोजन किया जा रहा है।

Read More

गुजरात के वडोदरा में भगवान शिव का एक ऐसा मंदिर है जो देखते ही देखते गायब हो जाता है और फिर अचानक ही दोबारा दिखने लगता है। मंदिर की इसी खूबी के कारण यह दुनियाभर में प्रसिद्ध और भोले के भक्त इस घटना को अपनी आंखों से देखने के लिए दौड़े चले आते हैं।

Read More

ब्रज क्षेत्र में गुरु पूर्णिमा को एक लोक पर्व के रूप में भी मनाया जाता है। इस दिन मुड़िया पूनों मेले के आयोजन के पीछे भगवान वेद व्यास का जन्म दिवस व चैतन्य महाप्रभु सम्प्रदाय के शिष्य आचार्य सनातन गोस्वामी का आषाढ़ शुक्ला पूर्णिमा को निर्वाण और गिरिराज गोवर्धन को साक्षात श्रीकृष्ण का प्रतिरूप माने जाने की अटूट आस्था है।

Read More

Mediabharti