देशभर में सड़क दुर्घटनाएं और मरने वालों की संख्या में हुआ इजाफा

बीते वर्ष के दौरान देशभर में कुल 4,61,312 सड़क दुर्घटनाएं दर्ज की गईं, जिनमें 1,68,491 लोगों ने जान गंवाई और 4,43,366 लोग घायल हो गए। इस तरह, पिछले वर्ष की तुलना में इस बार दुर्घटनाओं में 11.9 फीसदी, मृत्यु में 9.4 फीसदी और चोटों में 15.3 फीसदी की बड़ी वृद्धि हुई है।

ये आंकड़े सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय द्वारा प्रकाशित वार्षिक रिपोर्ट 'भारत में सड़क दुर्घटनाएं - 2022' में प्रकाशित किए गए हैं। यह रिपोर्ट एशिया प्रशांत सड़क दुर्घटना डेटा आधार परियोजना के अंतर्गत एशिया और प्रशांत के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक और सामाजिक आयोग द्वारा प्रदान किए गए मानकीकृत प्रारूपों में कैलेंडर वर्ष के आधार पर राज्यों के पुलिस विभागों से प्राप्त जानकारी पर आधारित है।

Read in English: Road accidents in India increased by approximately 12 percent

इस रिपोर्ट में दुर्घटनाओं के लिए जिम्मेदार कारणों का समाधान करने के लिए एक व्यापक दृष्टिकोण अपनाने की तात्कालिकता पर बल दिया गया है। इसमें तेज गति, लापरवाही से और नशे में गाड़ी चलाना तथा यातायात नियमों का अनुपालन न करना शामिल है। रिपोर्ट के अनुसार यह महत्वपूर्ण है कि हम प्रवर्तन तंत्र को मजबूत करें, ड्राइवर शिक्षा और प्रशिक्षण कार्यक्रमों को बढ़ाएं और सड़कों और वाहनों की स्थिति में सुधार करने में निवेश करें।

चूंकि, सड़क दुर्घटनाएं प्रकृति में बहु-कारणीय होती हैं, इसलिए सरकारों की सभी एजेंसियों के ठोस प्रयासों के माध्यम से समस्याओं को कम करने के लिए बहु-आयामी दृष्टिकोण अपनाने की आवश्यकता है।

फिलहाल, मंत्रालय ने विभिन्न संबंधित संगठनों के साथ-साथ हितधारकों के साथ मिलकर शिक्षा, इंजीनियरिंग, प्रवर्तन और आपातकालीन देखभाल पर ध्यान केंद्रित करते हुए सड़क सुरक्षा के मुद्दे का समाधान करने के लिए एक बहु-आयामी रणनीति तैयार की है।

ध्यान रहे, ’भारत में सड़क दुर्घटनाएं – 2022’ प्रकाशन सड़क सुरक्षा के क्षेत्र में नीति निर्माताओं, शोधकर्ताओं और हितधारकों के लिए एक मूल्यवान संसाधन के रूप में कार्य करता है। यह सड़क दुर्घटनाओं के विभिन्न पहलुओं, उनके कारणों, स्थानों और सड़क उपयोगकर्ताओं की विभिन्न श्रेणियों पर उनके प्रभावों से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करता है। यह रिपोर्ट उभरते रुझानों, चुनौतियों और मंत्रालय की सड़क सुरक्षा पहलों का भी उल्लेख करती है।

Related Items

  1. मृत्यु भी नहीं बना सकी गुलाम जिन्हें, आजीवन रहे 'आजाद'

  1. सड़क दुर्घटनाओं के मामले में अमेरिका व चीन को पछाड़कर भारत टॉप पर

  1. सरकार के इन दस कदमों से देश में बिछेगा सड़क व यातायात व्यवस्था का जाल


Mediabharti