महाकवि निराला का जीवन निष्कपट था। जैसा वह कहते थे, वही उनका आचरण था, बाहर-भीतर एक समान। उनके जीवन के ऐसे अनेक प्रसंग हैं जब उन्होंने दीन-दुखियों के आगे अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया।

Read More

नई दिल्ली : मीडिया की दुनिया के सूरतेहाल को वेब जर्नलिज्म के जरिए व्यापकता देने और राष्ट्रीय पटल पर लाने के अभूतपूर्व योगदान के लिए युवा पत्रकार और मीडिया विश्लेषक अभिषेक मेहरोत्रा को सम्मानित किया गया है।

Read More

"क्या हुआ इतना परेशान क्यों हो...?"

Read More

दोनों एक झोंक में एकदूजे के पास आ गए और अचानक से उसके कांपते होंठों को उसके कोमल होंठो ने थाम लिया। उसकी आंखें बुझती चली गईं और अंदर मीठी सी तरंग दौड़ गई। अचानक से, उसने एक उत्सुकता में अपनी आंखें हल्के से खोलीं तो देखा क़ि दो आंखें उसे भी उस तरंगित दौर में बड़े प्यार से निहार रही थीं।

Read More

भूगोल में, पहाड़ों से निकली नदी के समुद्र में मिलने तक की प्रक्रिया को, तीन अवस्थाओं में बांटा गया है। मुझे प्रेम की संपूर्णता में भी इन अवस्थाओं से साम्य नजर आया है हमेशा...

Read More

फरीदाबाद : लाल बहादुर शास्त्री, लाला लाजपतराय व पं. रामप्रसाद बिस्मिल की स्मृति में सैक्टर 19 स्थित आर्य समाज में राष्ट्रीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया।

Read More
loading...