केन्‍द्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा वित्‍त वर्ष 2020-21 के लिए संसद में पेश किए गए केन्‍द्रीय बजट में संस्कृति एवं पर्यटन के लिए विशेष प्रावधान किए गए हैं। यहां हम आपको बजट में इस क्षेत्र के लिए किए गए नौ प्रमुख प्रावधानों के बारे में बता रहे हैं।

Read More

एक दिसंबर से भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्रधिकरण के देशभर में मौजूद 520 से ज्यादा टोल प्लाजा पर फास्टैग की सुविधा शुरू हो जाएगी। फास्टैग सभी निजी और व्यावसायिक वाहनों के लिए अनिवार्य है। यहां हम आपको इससे जुड़ी पांच महत्वपूर्ण बातें बता रहे हैं।

Read More

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में एक औपचारिक समारोह में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक राष्ट्र को समर्पित किया। यहां हम आपको बता रहे हैं इस स्मारक से जुड़ी पांच प्रमुख बातें।

Read More

वन्य जीवन में रुचि रखने वाले लोगों को जोधपुर के माचिया पार्क में एक बार अवश्य जाना चाहिए। जोधपुर स्टेशन से करीब साढ़े आठ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है माचिया पार्क। यहां निजी गाड़ी, कैब या ऑटो से जाया जा सकता है।

Read More

उम्मेद भवन पैलेस संग्रहालय जोधपुर के शाही परिवार द्वारा इस्तेमाल की गई प्राचीन वस्तुओं की एक विस्तृत श्रृंखला को प्रदर्शित करता है। इस संग्रहालय में प्राचीन वस्तुओं, घड़ियों, बर्तनों, तस्वीरों और शिकार के बाद मिली ट्राफियों का प्रदर्शन किया गया है। संग्रहालय की लॉबी में सजावट, लेखन आदि के काम में आने वाली मेजें बड़े करीने से रखी गई हैं, जो तत्कालीन काष्ठ कला का अनुपम उदाहरण हैं। बलुआ पत्थर से बना यह अतिसमृद्ध भवन वर्तमान में भी पूर्व शासकों का निवास स्थान है, जिसके एक हिस्से में एक होटल का परिचालन किया जाता है और बाकी के हिस्से में संग्रहालय बनाया गया है। यह अनूठा संग्रह जोधपुर के शाही वैभव का अहसास कराता है। जोधपुर रेलवे स्टेशन से भवन की दूरी करीब पांच किलोमीटर है। यहां आप सड़क मार्ग से आसानी से आ सकते हैं। रेलवे स्टेशन से गाड़ी, कैब या ऑटो के जरिए भी यहां आया जा सकता है। वीडियो देखें {youtube}i4q0qiyumZM{/youtube}

Read More

जोधपुर स्थित मेहरानगढ़ का किला भारत के सबसे बड़े किलों में से एक है। इस किले का निर्माण राव जोधा ने करवाया था। यह किला शहर से लगभग 410 फुट की ऊंचाई पर स्थित है।

Read More
loading...